Skip to content

Sidhu Moose Wala Biography in Hindi | Sidhu Moose Wala

सिद्धू मूस वाला की जीवनी

मूस वाला बहुत कम समय में ही एक पॉप आइकॉन बन गए थे।

वह अपने विवादस्पद और हथियार संस्कृति को बढ़ावा देने के कारण हमेशा कानूनी दांव-पेच में फसते रहे, वह गुस्सैल और और मनमौजी मिजाज़ के थे।

इसके अलावा, उन पर लॉक डाउन के दौरान एक शूटिंग रेंज पर एके -47 राइफल से फायरिंग करके आर्म्स एक्ट का उल्लंघन करने का आरोप लगाया गया था।

उन्हें अपने गीत "संजू" में हिंसा और बंदूक संस्कृति को बढ़ावा देने और उसका उपयोग करने के लिए गिरफ्तार  भी किया गया था।

हालांकि उनका दिल उनके गांव मूसा में बसता था।

"इसीलिए मैंने अपने नाम से नहीं, बल्कि अपने गाँव के नाम से जाने जाते थे," वह कहते थे कि जब वह गाँव-गाँव जाकर अपनी माँ के लिए पंचायत चुनाव में वोट माँगते थे।

उनकी माँ उस समय सरपंच पद के लिए पंचायत चुनाव लड़ रही थीं, और चुनाव जीत कर सरपंच बनीं 

उन्होंने मानसा से कांग्रेस का टिकट मिला था  किया और आम आदमी पार्टी (आप) के विजय सिंगला से हार गए थे।

सिद्धू मूस वाला बायोडाटा :

वास्तविक नाम

शुभदीप सिंह सिद्धू

जन्म तिथि

11 जून 1993

जन्म स्थान

ग्राम मूसा, मनसा, पंजाब

ऊँचाई

6′ 1” or 1.85 cm

स्कूल 

गवर्नमेंट मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल, मनसा

कॉलेज

गुरु नानक देव इंजीनियरिंग कॉलेज, लुधियाना

शिक्षा

बी. टेक (इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग )

व्यवसाय

गायक, गीतकार और अभिनेता

टर्निंग पॉइंट

"सो हाई" गीत “So High” Song

कब से सक्रीय

2016 – 29 मई, 2022

ईमेल

[email protected] sidhumoosewala.net

सिद्धू मूस वाला की पृष्ठभूमि के बारे में

सिद्धू मूस वाला एक पंजाबी गायक, गीतकार और अभिनेता थे जो पंजाबी मनोरंजन उद्योग से जुड़े हुए थे।

सिद्धू का जन्म 11 जून 1993 को मूसा गांव में एक सिख परिवार में हुआ था। यह गांव पंजाब के मनसा जिले के अंतर्गत आता है। उनकी ऊंचाई लगभग 6'1" थी।

उन्होंने मनसा के गवर्नमेंट मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल से 10+2 और लुधियाना के गुरु नानक देव इंजीनियरिंग कॉलेज में अपनी शिक्षा प्राप्त की।

उन्होंने अपनी डिग्री पूरी करने के बाद आगे की पढ़ाई के लिए कनाडा चले गए। सिद्धू मूस वाला का असली नाम शुभदीप सिंह सिद्धू था।

अपने कॉलेज के वर्षों के दौरान, उन्होंने संगीत में रूचि लेते हुए संगीत का अध्ययन किया और निंजा के गीत "लाइसेंस" के लिए एक गीतकार के रूप में अपना करियर शुरू किया।

स्नातक स्तर की पढ़ाई के बाद वह कनाडा चले गए और अपना पहला गाना "जी वैगन" जारी किया। सिद्धू मूस वाला ने सभी लोकप्रिय सोशल मीडिया पर एक बड़ा प्रशंसक वर्ग बनाया था।

सिद्धू मूस वाला परिवार पृष्ठभूमि

सिद्धू अपने माता-पिता के इकलौते पुत्र थे।

उनके पिता एक किसान हैं और उनका नाम भोला सिंह सिद्धू है, और उनकी माँ एक गृहिणी हैं और उनका नाम चरण कौर सिद्धू है।

sidhu_moose_wala_father

अपने पिता भोला सिंह सिद्धू के साथ

sidhu_moose_wala_mother

अपनी माँ चरण कौर सिद्धू के साथ

पिता का नाम

भोला सिंह सिद्धू 

माँ का नाम

रण कौर सिद्धू

पत्नी

अविवाहित

भाई

नहीं

बहन

नहीं

सिद्धू मूस वाला के पसंदीदा (फेवरेट)

अभिनेता

आमिर खान

अभिनेत्री

ज्ञात नहीं

गायक (पुरुष)

डेबी  मखसूसपुरी, तुपैक शकूरी

गायक (महिला)

ज्ञात नहीं

रंग

ब्लू और काला

खे

फ़ुटबॉल, वॉली बॉल

खाना

ज्ञात नहीं 

पर्यटन स्थल

कनाडा, न्यूयॉर्क 

सिद्धू मूस वाला द्वारा लिखे गए गीत

2016

License

निंजा

2017

आ गिया नी ओही बिल्लो टाइम 

दीप जंदु

2017

गॉड फादर

सिप्पी गिल

2018

चैलेंज

निंजा

2018

वसी

दिलप्रीत ढिल्लों

2020

आज कल वे

बार्बी मा

सिद्धू मूस वाला के गीत 2021

र्ष

टाइटल 

लेब

2020

Puut टिबेटन दा पूत

सिद्धू - लेबल 

2020

ग्वाचेया गुरबकाश

सिद्धू - लेबल 

2020

911 फीट गेम चेंजर्ज़ 

सिद्धू - लेब

2020

एप्रोच 

सिद्धू - लेबल 

2020

8 सिलिंड

सिद्धू - लेबल 

2020

डिअर मामा

सिद्धू - लेब

2020

बंबिहा बोले फीट अमृत मान

सिद्धू - लेबल

2020

संजू 

सिद्धू - लेबल 

2020

डॉक्टर 

सिद्धू - लेबल

2020

माई ब्लॉक 

सागा हिट्स

2020

बै

स्पीड रिकार्ड्स

सिद्धू मूस वाला के गीत ऑडियो / विडियो एल्बम

वर्ष

टाइटल

लेबल

2021

Sin (ऑडियो विडियो एल्बम)

सोनी म्यूजिक इंडिया

2021

Unfuck Withable (विडियो एल्बम)

सिद्धू - लेब

सिद्धू मूस वाला से जुड़े अनकही बातें

  • 2017 में, मूस वाला के गाने "सो हाई" ने लोगों को काफी आकर्षित किया। 2018 में, उन्होंने अपना पहला एल्बम, PBX 1 जारी किया, जो बिलबोर्ड कनाडाई एल्बम चार्ट पर 66 वें नंबर पर पहुंच गया।
  • 2022 में, मूस वाला कांग्रेस के टिकट पर मानसा से पंजाब विधानसभा के लिए चुनाव लड़े, लेकिन AAP उम्मीदवार विजय सिंगला से हार गए।
  • पंजाब सरकार के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. सिंगला को हाल ही में भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया गया था।
  • सिद्धू ने छठी कक्षा में हिप-हॉप संगीत सुनना शुरू किया और लुधियाना में हरविंदर बिट्टू से संगीत कौशल सीखा।
  • दिसंबर 2018 में, सिद्धू ने अपनी पंचायत चुनाव में मां चरण कौर के लिए सक्रिय रूप से प्रचार किया, जिन्होंने मूसा गांव की सरपंच चुनाव में जीत हासिल की ।
  • उन्हें 2020 में "द गार्जियन" अखबार द्वारा 50 नए कलाकारों की सूची में इन्हें शामिल किया गया था।

सिद्धू मूस वाला विवाद

  • वर्ष 2019 में, मूस वाला ने 'जत्ती जीने मोड़ दी बंदूक वर्गी' गीत जारी किया, जिसने 18 वीं शताब्दी के सिख सेनानी माई भागो के लिए एक गाने  के कारण विवादित बहस छिड गया था । उन पर सिख सेनानी को गलत तरीके से चित्रित करने का आरोप लगाया गया था, जिसके लिए उन्होंने बाद में खेद भी व्यक्त किया था।
  • मूस वाला और करण औजला झगड़ में हमेशा विवाद रहा है, और दोनों एक-दूसरे के गानों, सोशल मीडिया हैंडल और लाइव परफॉरमेंस में जवाब देते रहे हैं।
  • COVID-19 महामारी के दौरान, मूस वाला का एक वीडियो कथित तौर पर एक पुलिस अधिकारी के साथ फायरिंग रेंज में एके -47 राइफल से फायरिंग करते हुए दिखाया गया था। घटना के बाद, उन्हें शस्त्र अधिनियम की दो धाराओं के तहत आरोपित किया गया और बंदूक संस्कृति को प्रोत्साहित करने के लिए व्यापक रूप से दंडित किया गया।
  • मूस वाला अपनी विवादास्पद गीतात्मक शैली के लिए प्रसिद्ध थे, जिसने अक्सर बंदूक संस्कृति को बढ़ावा दिया।
  • पिछले महीने सिद्धू मूस वाला ने उस समय विवाद खड़ा कर दिया था जब उन्होंने आम आदमी पार्टी और उसके समर्थकों की आलोचना करने के लिए अपने गाने 'बलि का बकरा' का इस्तेमाल किया था। उन्होंने अपने विवादित गाने में आप समर्थकों पर निशाना साधा। सिद्धू ने उन्हें "गद्दार" (देशद्रोही) कहा।
  • दिसंबर 2020 में, सिद्धू ने कृषि कानूनों के विरोध में एकल गाना "पंजाब" रिलीज़  किया, लेकिन गाना उग्रवादी जरनैल सिंह भिंडरावाले और भारत सरकार के खिलाफ हथियार उठाने का आह्वान करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.